शेयर मार्केट क्या है? | What is Share Market in Hindi

नमस्कार दोस्तों, इस आर्टिकल के माध्यम से आपको Share Market की बेसिक जानकारी प्राप्त होगी, जेसे की शेयर बाजार क्या है? (What is Share Market in Hindi) और शेयर क्या हे? और शेयर बाजार केसे काम करता है? क्युकी निवेश करने से पहले आपको Share market की बेसिक जानकारी होना बहोत जरूरी है, दोस्तों हमारे India मे शेयर मार्केट को अलग ही नजरिए से देखा जाता हे। आज के जमाने मे आपको कई घरों मे हमारे माता,पिता और दादाजी ने हमे यही बताते हे की शेयर मार्केट जुआ हे, और हमे इसमे नहीं पड़ना चाहिए।

लेकिन जब आप ईस आर्टिकल को पूरा पढ़ेंगे तो आपको शेयर मार्केट की बेसिक जानकारी हो जाएगी। और जब आप भी शेयर मार्केट मे निवेश करने का स्टार्ट करेंगे तो आपको बहोत मदद मिलेगी। तो चलिए दोस्तों शेयर मार्केट को ज़ीरो से समजते है। और अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ भी जरूर Share करें। सबसे पहले हमे ये समजना जरूरी है की शेयर या स्टॉक क्या है?

शेयर क्या हैं? | What is a Stock

दोस्तों, अगर मे आसान बहस मे कहू तो शेयर का मतलब हे हिस्सा, किसी कंपनी का share खरीदने का मतलब यह हे की आप उस कंपनी के कुछ प्रतिशत की हीसेदारी के मालिक होते है। जिसका मतलब ये है की अगर उस कंपनी को भविष्य में अच्छा प्रदर्शन किया और आपको मुनाफा होगा तो आपके लगाये हुए पैसे मे भी बढ़ोतरी होगी। और अगर किसी कारण Company घाटे मे हे, या ग्रोथ नहीं करती तो आपको भी नुकसान होगा या आपके पैसे पूरी तरह से डूब भी सकते है. तो आप जो भी Company मे निवेश करना चाहते हो उस कंपनी के बारे मे आपको पूरी जानकारी होनी जरूरी हे। चलिए इसे एक उदाहरण से समजते है।

अगर xyz कंपनी की value Rs.10,000 हे, और कंपनी कुल 1,000 शेयर है।

तब उस कंपनी के एक शेयर की value 10,000/1,000 = Rs.10 होगी।

और जब आप उस कंपनी Rs.1,000 का निवेश करेंगे तो आप 100 शेयर के हिसाब से उस कंपनी मे 10% के हीसेदार होंगे।

शेयर बाजार क्या है? | What is Share market in Hindi.

शेयर बाज़ार और जिसे हम अंग्रेजी मे Stock Market कहते है, ये एक ऐसा बाज़ार है जहाँ कंपनियों के शेयर खरीदे-बेचे जा सकते हैं. किसी भी दूसरे बाज़ार की तरह शेयर मार्केट में भी खरीदने और बेचने की प्रक्रिया होती है। पहले शेयरों की खरीद-बिक्री मौखिक बोलियों से होती थी और खरीदने-बेचने वाले मुंहजबानी ही सौदे किया करते थे, लेकिन अब यह सारा लेन-देन स्टॉक एक्सचेंज के नेटवर्क से जुड़े कंम्प्यूटरों के जरिये होता है।

आज स्टॉक मार्केट का सारा काम इंटरनेट का इस्तेमाल कर के लोग घर बैठे ही कर लेते हैं। आप भले ही दुनिया के किसी भी कोने में हो, वहीँ से स्टॉक मार्केट का काम कर सकते है। जोकि आप अपने मोबाईल से online आसानी कर सकते है। आज स्थिति यह है कि खरीदने और बेचने वाले एक-दूसरे को जान भी नहीं पाते। आज share market मे Shares के अलावा बांड, डेरिवेटिव, म्यूच्यूअल फण्ड का भी व्यापर होता है| शेयर बाजार में बहोत सारी घरेलु एवं विदेशी कम्पनिया निवेश करती है| आपको निवेश करने के लिए एक Demat and treding account की आवशक्यता होगी।

शेयर बाजार केसे काम करता है?

भारत मे मुख्य दो Stock Exchange जहा पर शेयर का आदान प्रदान होता है,

1) Bombay stock exchange – BSE

2) National Stock Exchange – NSE

इन दोनों Stock exchange के साथ Stock broker जुड़े होते हे, और इन्हे Securities and Exchange Board of India – SEBI विनियमित करता है। शेयर मार्केट Demand and supply पर काम करता है, अगर किसी को शेयर बेंचना होता है तो सबसे ऊंची बोली लगाने वाले को ये शेयर बेंच दिया जाता है। या अगर कोई शेयर खरीदना चाह्ता है तो बेचने वालो मे से जो सबसे कम कीमत पे तैयार होता हे उससे शेयर खरीद लिया जता है. दोस्तों, ये कहना जायस की एक प्रकार से यहाँ पे शेयरों की नीलामी होती है.

और जिन्हे  बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नैशनल स्टॉक एक्सचेंज ज़रूरी सभी तरह कि सुविधाये मुहैया कराते है। आपको जानकार हेरणी होगी की एक दिन मे दोनों एक्सचेंज पर करोड़ो शेयरों का आदान-प्रदान होता है। शोचिए कितना मुश्किल हो जाये अगर आज भी सभी कारोबरियोँ  खरीदे और बेंचने वालो को ढूंढ ने लिए चिल्ला चिल्ला के बुलाना पड़े। अगर ऐसा हो तो शेयर खरीदना और बेंचना बहोत मुस्किल हो जाता। लेकिन पिछ्ले कुछ सालो मे technology माध्यम से कोई भी घर बैठे शेयर्स को ऑनलाइन खरीद और बेंच सकता है। जो काम पहले कुछ पैसे वाले लोग ही कर सकते थे अब वो सब एक आम आदमी भी कर सक्ता है। और इसमें की शेयर ब्रोकर [Stock Broker] की अहम भूमिका होती है।

और इन्हे SEBI के कई प्रकार के नियम, कम्प्यूटर की मदत, शेयर ब्रोकरइंटर्नेट के मध्यम से ये मूलभूत ढांचा दिया जाता है। स्टॉक एक्सचेंज इस काम को सरल और सही ढंग से करने का मूलभूत ढांचा प्रदान करती है। जिस तरह Share market में पैसे बनाना आसान है ठीक उसी तरह यहाँ पैसे गवाना भी उतना ही आसान है।  क्यूंकि share market में उतार चढ़ाव होते रहते हैं। दोस्तों, अगर न्यूज अछि हो तो मार्केट ऊपर जाता है, और उसी के विपरीत अगर मार्केट मे कोई बुरी न्यूज आती है तो मार्केट नीचे आता है।

दोस्तों वेसे तो और भी Exchnge है, लेकिन हम सब ये दो हो स्टॉक एक्सचेंज को जानते है। लेकिन इन दो के अलावा भी इंडियन कमोडिटी एक्सचेंज (ICEX), मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (MCX), नेशनल कमोडिटी एंड डेरिवेटिव्स एक्सचेंज लिमिटेड (NCDEX). लेकिन किसी और दिन हम इन सभी एक्सचेंज के बारे मे बात करेंगे।

शेयर बाजार के प्रकार। | Types of Share market in India.

भारत में दो तरह के शेयर बाजार हैं। एक प्राथमिक बाजार और एक द्वितीयक बाजार है। अब जब हम शेयर बाजार का अर्थ समझते हैं, तो शेयर बाजार के मूल सिद्धांतों का एक महत्वपूर्ण पहलू यह है कि कोई भी दो बाजार खंडों में से एक से व्यापार कर सकता है। दूसरे शब्दों में,

1. प्राथमिक शेयर मार्केट (Primary stock market).

निवेशक मौजूदा बाजार मूल्य निर्धारित करने के लिए दोनों पक्षों द्वारा सहमत कीमत पर दूसरे बाजार से शेयर खरीदेगा। निवेशक आमतौर पर इन लेनदेन को दलालों या अन्य बिचौलियों के माध्यम से करते हैं। जो प्रक्रिया को सरल बना सकता है। ब्रोकर इन ट्रेडिंग अवसरों को विभिन्न योजनाओं पर प्रदान करते हैं।

एक बार जब कंपनी की नई प्रतिभूतियों को प्राथमिक बाजार में बेच दिया जाता है, तो उन्हें द्वितीयक शेयर बाजार में बेच दिया जाता है। द्वितीयक बाजार में, निवेशकों के पास अपने निवेश से बाहर निकलने और अपने शेयर बेचने का अवसर होता है। द्वितीयक बाजार में लेन-देन में ज्यादातर व्यापार शामिल होता है जहां एक निवेशक मौजूदा बाजार मूल्य पर एक अलग निवेशक से शेयर खरीदना चुनता है। जो दलाल करता है।

2. द्वितीयक शेयर मार्केट (Secondary stock market).

प्राथमिक शेयर बाजार ऐसी ही एक जगह है। जहां कंपनी पहले फंड जुटाने के लक्ष्य के साथ पंजीकृत है। और एक निश्चित मात्रा में शेयर जारी करता है। प्राथमिक स्टॉक एक्सचेंज में सार्वजनिक रूप से सूचीबद्ध होने का लक्ष्य धन जुटाना है। यह वह जगह है जहां एक कंपनी को निश्चित मात्रा में शेयर जारी करने और धन जुटाने के लिए सूचीबद्ध किया जाता है। अगर कोई कंपनी पहली बार अपने शेयर बेचने का फैसला करती है, तो इसे आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) के रूप में जाना जाता है।

शेयर मार्केट मे निवेश केसे करें? | How to invest in share market?

शेयर मार्केट मे निवेश करने के लिए आपको एक Demat and Trading account की जरूरत होगी। Demat और trading account की पूरी जानकारी के लिए आप हमारे नीचे दिए गए आर्टिकल को जरूर पढिए।

और अगर आपके पास  Demat और trading खाता नहीं हे तो आप नीचे दिए गए लिंक के जरिए आप अपने मोबाईल से ही घर बैठे बैठे आसानी से अकाउंट खोल सकते है।

निष्कर्ष:

दोस्तों, मेरे मत के हिसाब से शेयर मार्केट में निवेश करना एक बहुत ही अच्छा विकल्प हैं। क्यूकी बढ़ती महगाई को हम FD से नहीं हरा सकते, पिछले कुछ सालों के रिपोर्ट के हिसाब से महगाई 8% से बढ़ रही है, और FD 5% या 6% ज्यादा रिटर्न नहीं देता, जबकि अगर हम शेयर मार्केट मे निवेश करते तो मिनिमम 14% तो रिटर्न ले ही सकते है, लेकिन Stock market invest करने से पहले आपको रिसर्च करना बहोत है। क्यूकी बिना रिसर्च निवेश करना काफी जोखिम भरा हो सकता हैं। इसलिए दोस्तों  शेयर बाजार में निवेश अपनी रिसर्च  करके ही करना चाहिए न की किसी के द्वारा दी गई टिप्स के आधार पर।

यह पोस्ट पढ़ने के लिए धन्यवाद,

आपको हमारा यह आर्टिकल [What is Share Market in Hindi] केसा लगा Comment करके हमे जरूर बताए। अगर यह आर्टिकल से आपको सही जानकारी मिली हो, तो अपने दोस्तों को भी Share करिए। और ऐसी ही Share Market Daily updates और Share market की basic जानकारी के लिए Social media पर हमे Join करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.